पीएम किसान की 9वीं किस्त अगस्तमें आ सकती है तो नहीं मिलेगी 9वीं क़िस्त कब तक मिलेगी



 की किस्त करीब 12 करोड़ किसानों के खातों में आने वाली है। पीएम किसान पोर्टल पर दिए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक अब तक 11.97 करोड़ किसान इस योजना में रजिस्टर्ड हो चुके हैं। पीएम किसान की आठवीं किस्त के लिए मोदी सरकार अभी 31 जुलाई तक किसानों के खातों में पैसे भेजती रहेगी। अप्रैल-जुलाई की किस्त के लिए 10.39 करोड़ किसानों का FTO जेनरेट हुआ था और इनमें से 10.27 करोड़ किसानों के खातों में पैसा पहुंच चुका है, जबकि कुल 11.97 करोड़ किसान रजिस्टर्ड हो चुके हैं

बता दें इस योजना के तहत मोदी सरकार अब तक 2000-2000 रुपये की 8 किस्तें जारी कर चुकी है। सालाना 6000 रुपये पाने के लिए बड़ी संख्या में किसान इस योजना से जुड़ रहे हैं। अगर आप इस योजना के लाभार्थी हैं या इसका लाभ लेना चाहते हैं तो ऐसे 10 सवाल हैं, जिनके बारे में जानना आपके लिए बेहद जरूरी है। 

 PM Kisan Samman Nidhi 9th Installment  पीएम किसान की 9वीं किस्त या अगस्त-नवंबर की किस्त का इंतजार कर रहे हैं तो पहले अपना स्टेटस चेक कर लें। कहीं ऐसा न हो कि किसी स्टेज पर आपका डेटा करेक्शन के लिए रुका हो और आपको पता ही न हो। आपको बता दें देश में करीब 42 लाख से ज्यादा अपात्र किसान फर्जी तरीके से पीएम किसान का पैसा उठा चुके हैं। इसको देखते हुए संभव है अगली किस्त जारी करने से पहले लाभार्थियों द्वारा पेश किए गए दस्तावेजों की एक बार फिर गहनता से जांच हो। ऐसे में अगर आप अपना स्टेटस चेक कर चुके हैं तो एक बार और चेक करिए। आज हम स्टेटस से संबंधित सभी चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं

कौन ले सकता है लाभ?

 

पीएम किसान के तहत केवल उन्हीं किसानों को इसका फायदा मिलता है, जिनके कृषि योग्य खेती हो। अगर कोई इनकम टैक्स देता है तो उसे पीएम किसान सम्मान का लाभ नहीं मिल सकता। वकील, डॉक्टर, सीए आदि भी इस योजना से बाहर हैं।

कब-कब आती है पीएम किसान की किस्त?

 

हर वित्त वर्ष में पहली किस्त के रूप में 2000 रुपये 1 अप्रैल से 31 जुलाई, दूसरी किस्त 1 अगस्त से 30 नवंबर और तीसरी किस्त 1 दिसंबर से 31 मार्च के बीच आती है। ये किस्तें किसानों के खाते में डायरेक्ट ट्रांसफर कर दी जाती है।

 

क्यों अटक जाती है किस्त?

 

सरकार की तरफ से अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करने के बावजूद  किसानों के अकाउंट में नहीं पहुंचते हैं। इसकी सबसे वजह आपके आधार, अकाउंट नंबर और बैंक अकाउंट नंबर में गलती का होना हो सकता है। इसके अलावा बैंक खाते के नाम और आधार कार्ड पर दर्ज नाम की स्पेलिंग में मिसमैच करना या फिर गलत IFSC कोड का भरा जाना।

 

गलत आधार, IFSC कोड, अकाउंट नंबर को कैसे सुधारें?

 

अगर आपका केवल नाम गलत होता है यानी कि अप्लीकेशन और आधार में जो आपका नाम है दोनों अलग-अलग है तो आप इसे ऑनलाइन ठीक कर सकते हैं। इसके लिए आप ऑफिशियल वेबसाइट (https://pmkisan.gov.in/) पर जाएं और नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर पूरा प्रोसेस जानें।

 

हेल्पडेस्क के जरिए कौन-कौन सी समस्या दूर हो सकती है?

 

किसानों की समस्या को दूर करने के लिए पोर्टल में हेल्पडेस्क (Helpdesk) ऑप्शन खोल दिया गया है। इस साइट पर जाने के बाद किसान आधार कार्ड नंबर के जरिए अपना अकाउंट भी खोल सकते है। Helpdesk में क्लिक करने के बाद आप आधार नंबर, अकाउंट नंबर और मोबाइल नंबर डालने के बाद जो भी गलतियां हैं, उन्हें सुधार सकते हैं। जैसे आधार नंबर में सुधार, स्पेलिंग में गलती ऐसी तमाम गलतियों को ठीक किया जा सकता है.

 

पैसे नहीं आए तो कहां करें शिकायत?

 

सबकुछ सही होने के बावजूद अगर आपके खाते में पीएम किसान की किस्त नहीं आ रही है तो आप सबसे पहले अपने क्षेत्र के लेखपाल और कृषि अधिकारी से संपर्क करें। अगर आपकी बात ये लोग नहीं सुनते हैं तो आप सोमवार से शुक्रवार तक पीएम किसान हेल्प डेस्क (PM KISAN Help Desk) के ई मेल (Email) pmkisan [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं। वहां से भी न बात बने तो इस सेल के फोन नंबर 011 23381092 (Direct HelpLine) पर फोन करें।




स्टेटस चेक करने के लिए सबसे पहले आपको पीएम किसान पोर्टल पर जाना होगा। यहां राइट साइड में Farmers Corner टैब पर जाएं और Beneficiary Status पर क्लिक करें।

इस पर क्लिक करते ही एक नया पेज मिलेगा। यहां अपने आधार नंबरबैंक अकाउंट नंबर या रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के जरिए अपना स्टेटस चेक कर सकते हैंजो कुछ इस तरह से दिखेगा..

सबसे ऊपर किसान का नाम लिखा मिलेगा। इसके बाद दो कॉलम और आठ Row में किसान के बार में जानकारियां मिलेंगी। जैसे खाते से रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर का आखिरी चार अंक। राज्य का नाम। जिले का नामगांव का नाम। आईएफएससी कोड के साथ बैंक खाते का नंबर वह भी केवल आखिरी 4 अंक। अगर कस्बे में रहते हैं तो कस्बे का नामवार्ड का नंबर।

 

इसके बाद आती हैं वो जानकारियांजिन्हें हम अक्सर नहीं जानना चाहते। जैसे.. 

Registration Status: इससे ये पता चलता है कि आपका रजिस्ट्रेशन नंबर क्या है और यह पेंडिंग हैहो गया है या रिजेक्ट हो गया है

Registration Date: अगर रजिस्ट्रेशन सफलतापूर्वक हो गया है तो उसकी डेट यहां शो करेगी

Active/InActive: अगर पीएम किसान खाता एक्टिव है तो एक्टिव नहीं तो इनएक्टिव शो करेगा   

PFMS / Bank Status: यहां पता चल जाएगा आपके डेटा में कोई करेक्शन तो नहीं,यह कहां से होगा जैसे अगर ये लिखा है कि Correction is pending at state    तो इसका मतलब है कि आपके डेटा में राज्य स्तर से करेक्शन होना है। अगर Farmer Record has been accepted by PFMS / Bank लिखा है तो इसका मतलब आपका विवरण सही है और किस्त मिलने में कोई दिक्कत नहीं आएगी।

Aadhar Status: इसमें अगर ये लिखा है कि Aadhar Number is Verified    तो आपका आधार वेरिफाई हो चुका है।

Payment Mode: इसमें अगर AADHAR या ACCOUNT लिखा है तब भी पैसा आपके खाते में ही आएगा। अगर पेमेंट मोड में आधार है तो इसमें थोड़ी सहूलियत यह है कि आपके जिस खाते से आधार लिंक है पैसा उसमें चला जाएगा।

इसके बाद इंस्टालमेंटवाइज आपका स्टेटस दिखेगा। यहां पेमेंट स्टेटस में आपके पहलीदूसरी ...किस्त की डिटेल रहेगी। अगर पैसा खाते में पहुंच गया है तो ..installment payment done लिखा होगा। या फिर Waiting for approval by state या Rft Signed By State.या FTO Generatedलिखकर आएगा।

इसके नीचे उस बैंक का नाम होगाजिसमें किस्त की राशि जाएगी। इसके बाद जिस खाते में पैसा जाएगा उसका अंतिम अंकइसके बाद खाते में किस्त गिरने की डेट फिर UTR No लिखा मिलेगा।

किस्ते देखे के लिए यहाँ क्लिक करे

Reactions

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ